Friday, July 19, 2024
HomeHimachal Newsअंतर्राष्ट्रीय महत्व की पवित्र रेणुका झील की स्वच्छता और संरक्षण पर विशेष...

अंतर्राष्ट्रीय महत्व की पवित्र रेणुका झील की स्वच्छता और संरक्षण पर विशेष ध्यान दिया जायेगा-सुमित खिमटा*

 

सिरमौर जिला में वैटलेंड की हुई पहली बैठक

नाहन, 23 अप्रैल। उपायुक्त सिरमौर सुमित खिमटा ने कहा कि सिरमौर जिला की पवित्र श्री रेणुका जी झील अंतराष्ट्रीय महत्व की झील है जिसके संरक्षण और स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गत वर्ष संपन्न श्री रेणुका जी मेले को पहली बार ‘‘ग्रीन मेले’’ की संज्ञा दी गई जिसमें स्वच्छता विशेष कर सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर विशेष ध्यान दिया गया। उन्होंने कहा कि ‘‘ग्रीन श्री रेणुका जी फेयर’’ के आयोजन के उपरांत विभिन्न स्तरों पर इसकी प्रशंसा हुई है।

उपायुक्त सुमित खिमटा आज मंगलवार को नाहन में जिला स्तरीय वैटलैंड कमेटी की सिरमौर की पहली बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

उपायुक्त ने कहा कि श्री रेणुका झील का धार्मिक और पर्यटन की दृष्टि से महत्व है और वैट लैंड के तहत पड़ने वाले इस प्राकृतिक झील के संरक्षण के लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज की बैठक में श्री रेणुका जी झील के संरक्षण हेतु दीर्घकालीन योजनाओं पर विस्तार से चर्चा हुई तथा कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये हैं।

उन्होंने कहा कि रेणुका जी झील के समीप बहने वाले पांजी खाले के उपचार एवं संवर्धन के लिए लोक निर्माण विभाग को डीपीआर बनाने के लिए कहा गया है। इसी प्रकार झील की डी-विडिंग यानि यहां से घास इत्यादि को हटाने के लिए स्थानीय समुदायों की सहभागिता से वाईल्ड लाईफ विभाग को डी-विडिंग की योजना तैयार करने के लिए कहा गया है। इसमें मनरेगा के तहत भी सहयोग करने का निर्णय लिया गया है।

उन्होंने कहा कि जल शक्ति विभाग को झील परिसर क्षेत्र में मल निकासी व्यवस्था के लिए शीघ्र ही पीपीआर तैयार करने के लिए कहा गया है। इसी प्रकार सोलिड वेस्टस मैनेजमेंट के लिए वैस्ट वारियर एजेंसी जो कि रेणुका जी वैट लैंड क्षेत्र में स्वच्छता के लिए कार्य कर रही है के सहयोग से योजना तैयार करने के लिए एसडीएम नाहन को निर्देश दिये गए हैं।

सुमित खिमटा ने कहा कि परिक्रमा पथ की स्वच्छता और साफ सफाई के लिए वाईल्ड लाईफ विभाग को निर्देशित किया गया है। परिक्रमा पथ की साफ सफाई और स्वच्छता में रेणुका जी विकास बोर्ड द्वारा वाईल्ड लाईफ विभाग को आर्थिक सहयोग उपलब्ध करवायेगा।

उपायुक्त ने कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा वाईल्ड लाईफ विभाग के साथ आपसी तालमेल से वैट लैंड के महत्व को उजागर करने हेतु स्कूली बच्चों में जारूगता अभियान आयोजित किये जायेंगे। इसके अलावा वैट लैंड क्षेत्र में निराश्रित पशुआंे की समस्या के समाधान के लिए ठोस कदम उठाये जायेंगे।

एसडीएम नाहन सलीम आजम, जिला राजस्व अधिकारी चेतन चौहान, परियोजना अधिकारी जिला ग्रामीण विकास अभिकरण अभिषेक मित्तल, डीसीएफ वाईल्ड लाईफ डा.शाहनवाज अहमद भटट, डीएफओ गुरहर्ष सिंह, अधिशासी अभियंता जल शक्ति जगबीर वर्मा वेस्ट वारियर के मो. कैफ, उप निदेशक कृषि राजेन्द्र ठाकुर, जीआजी के एडवाईजर कुणाल भारत, उप निदेशक पशुपालन डा. नवीन कुमार सिंह तथा अन्य सम्बन्धित अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित रहे।

 

.0.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments