Friday, July 19, 2024
Homebreaking newsजब लोग अपनी जान बचाने के लिए भागे तो आगे बढ़कर आई...

जब लोग अपनी जान बचाने के लिए भागे तो आगे बढ़कर आई छात्राओं ने संभाला मोर्चा, नारी शक्ति कोमल है लेकिन कमजोर नहीं

 

 

 

हालांकि, दमकल कर्मी जान को हथेली पर रखकर आग को काबू करने में जुट जाते हैं, लेकिन सोमवार सुबह हिमाचल प्रदेश के ऐतिहासिक शहर नाहन (Nahan) की प्रसिद्ध सैरगाह विला राउंड से दिल को छू (Heart Touching) देने वाला नजारा सामने आया। जंगलों में आग लगाने वाले शरारती तत्व इसे देखेंगे तो शायद शर्मसार हो जाएं और उनका कठोर दिल भीविला राउंड (Villa Round) में हर शख्स उस वक्त उस समय हक्का-बक्का रह गया जब देखा, मॉर्निंग वॉक (Morning Walk) करने आई चार लड़कियां जंगल की आग को काबू करने की जद्दोजहद कर रही हैं। हालंकि, दमकल कर्मी तड़के से ही आग को काबू करने में जुटे हुए थे, लेकिन नन्हें हाथों ने आग को ऊपर की तरफ आने से रोक दिया। बाद में भी दमकल कर्मियों (Fire Brigade) के साथ कंधे से कंधा मिलाकर डटी रही। लड़कियां भारी फायर होज पाइप्स (fire hose pipes) को उठाकर भागने से भी संकोच नहीं कर रही थी। बता दे कि जंगल की आग की वजह से बंदर व लंगूर सहमे हुए थे साथ ही पक्षियों की आवाजें भी सुनी जा सकती थी। मौके पर मौजूद लोग दूर से मात्र निहार रहे थे तो कुछ इसे युवतियों को सावधानी बरतने की हिदायत देकर पल्ला झाड़ रहे थे। प्रत्य्क्षदर्शियों के मुताबिक दो स्कूली छात्राओं समेत दो अन्य कॉलेज की युवतियां थी, जो खूबसूरत विला राउंड को आग की लपटों में घिरा देखकर व्याकुल नजर आ रही थी। फिर चारों ने निर्णय लिया कि वो जब तक संभव हो आग को फैलने से रोकेंगी। संयोगवश युवतियों को पास ही कोल्ड ड्रिंक्स की खाली बोतलें मिल गई। कहते हैं, जहां चाह-वहां राह। युवतियों ने बोतलें भर-भर कर आग पर डालना शुरू कर दिया। इसी दौरान उन्हें छोटी बाल्टियां भी मिल गई, जिसे वे दौड़-दौड़ कर जल शक्ति विभाग कार्यालय के समीप लगे नल से भरकर लाने लगी। यही नहीं, उन्होंने सूझबूझ से पेड़ की टहनियों को भी आग बुझाने में इस्तेमाल किया। इसी बीच फायर ब्रिगेड की गाड़ी भी मौके पर पहुंच गई। लेकिन युवतियों की शिद्दत तो देखिए, फायर कर्मियों के साथ भी आग बुझाने में जुटी रही । पतली-दुबली सी स्टूडेंट्स भारी फायर होज पाइप्स को उठाकर दौड़ रही थी। वे तब तक मौके पर जुटी रही, जब तक आग शांत नहीं हुई।मौके पर मौजूद एमबीएम न्यूज़ की संवाददाता ने युवतियों से बात करने की कोशिश की, लेकिन वो इससे इंकार करती रही। काफी पूछने के बाद अपने नाम बताने को राजी हुई। इससे साफ है की वो सही मायने में जंगल की आग से व्यथित थी। वरना युवा वर्ग तो आजकल रील बनाने में व्यस्त है, जिन्हे पर्यावरण के सरोकार से कोई मतलब नहीं।चारों युवतियां स्नेहा, कुंजना, प्रियंका व इशिका छात्राएं हैं। इनमें से दो गर्ल्स स्कूल नाहन की छात्राएं हैं। एक कॉलेज में पढ़ती हैं, जबकि एक कॉलेज पास आउट है। फ़िलहाल जानकारी नहीं हैं कि किस क्षेत्र से ताल्लुक रखती हैं, लेकिन इतना जरूर है कि प्रकृति प्रेमी हैं।

 

वहीं, फायर कर्मियों ने भी अपनी ड्यूटी बखूबी निभाई। फायर ब्रिगेड के जोगिन्दर सिंह, रोशन लाल, प्रदीप कुमार, सतीश, राज कुमार, रघुवीर सिंह, दीप कुमार एवं अनिल कुमार तड़के 4-5 बजे से ही आग बुझाने में जुटे थे। तीन फायर टेंडर खाली होने के बाद भी जंगल की आग शांत होने का नाम नहीं ले रही थी।बता दें कि शहर की अनमोल धरोहर विला राउंड के एक तरफ चीड़ का घना जंगल है। गर्मियों में ये जंगल उच्च स्तर पर ज्वलनशील हो जाते हैं। सुलगती सिगरेट या बीड़ी चंद मिनटों में सैंकड़ो बेशकीमती पेड़ों को जद में ले लेती है। उल्लेखनीय बीती रात बनोग में जंगल की आग पीजी कॉलेज (PG College) के समीप तक पहुंच गई थी। इसके अलावा बागथन(Bagthan) के नजदीक एक नामी स्कूल के समीप पहुंची आग ने भी हड़कंप मचा दिया था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments