Saturday, July 13, 2024
Homebreaking newsतीसरे दिन हरियाणा में मिला लापता HC जसवीर सैनी, जानिए क्या है...

तीसरे दिन हरियाणा में मिला लापता HC जसवीर सैनी, जानिए क्या है पूरा घटनाक्रम 

तीसरे दिन हरियाणा में मिला लापता HC जसवीर सैनी, जानिए क्या है पूरा घटनाक्रम

 

नाहन, 14 जून : बहुचर्चित मुख्य आरक्षी गुमशुदगी मामले में बड़ी खबर सामने आ रही है। पुख्ता जानकारी के मुताबिक लापता मुख्य आरक्षी को हरियाणा के नारायणगढ़ के आसपास से बरामद कर लिया गया है। 12 जून की रात से मुख्य आरक्षी की सलामती की दुआएं मांगी जा रही थी।

 

सीआईडी-क्राइम के डीआईजी डाॅ. डीके चौधरी ने मुख्य आरक्षी जसवीर सैनी के बरामद होने की पुष्टि की है। डीआईजी ने कहा कि पत्रकार वार्ता में विस्तृत जानकारी साझा की जाएगी।बता दें कि मुख्य आरक्षी की सलामती को लेकर सोशल मीडिया में जमकर दुआएं मांगी जा रही थी। शुक्रवार सुबह से ही डीआईजी कालाअंब थाना में ही डेरा डाले हुए थे। सूत्र बता रहे हैं कि रात पौने 8 बजे तक डीआईजी भी मुख्य आरक्षी के कालाअंब पहुंचने का इंतजार कर रहे थेजानिए, क्या है पूरा घटनाक्रम…

8 जून की शाम कालाअंब थाना में आईपीसी की धारा-341, 323, 147, 148, 149 के तहत मामला दर्ज हुआ। इसमें पंजाब के रहने वालों के खिलाफ स्थानीय ट्रैक्टर चालक से मारपीट का आरोप लगा था। मार पिटाई से जुड़ा 33 सैकेंड का वीडियो भी सामने आया है। इसमें एक व्यक्ति को डंडों से पीटते हुए दिखाया गया है।

 

9 जून को बतौर मुख्य आरक्षी जसवीर सैनी ने जांच शुरू कर दी। इसी रात मार पिटाई के पीड़ित पक्ष ने मुख्य आरक्षी को एक वीडियो सबूत के तौर पर उपलब्ध होने की बात कही। इस वीडियो के आधार पर आईपीसी की धारा-307 की मांग होने लगी।

ऐसी भी जानकारी है कि 10 जून की सुबह मुख्य आरक्षी को नाहन में डीएसपी मुख्यालय के कार्यालय में तलब किया गया। डीएसपी के उचित दिशा-निर्देश लेने के बाद जांच अधिकारी वापस कालाअंब लौटा।

11 जून की दोपहर मुख्य आरक्षी को एसपी कार्यालय में तलब किया गया। परिवार की मानें तो इसी रात मुख्य आरक्षी जसवीर सैनी लापता हो गया।

12 जून की शाम अचानक ही मुख्य आरक्षी जसवीर सैनी द्वारा बनाया गया वीडियो सबसे पहले व्हाट्सएप पर वायरल होने लगा। मुख्य आरक्षी का परिवार रात देर शाम ही कालाअंब पहुंच गया। व्यापक स्तर पर हैड कांस्टेबल की तलाश की जाने लगी। रात के वक्त अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक योगेश रोल्टा भी हैड कांस्टेबल के परिजनों से मिलने पहुंचे।

13 जून की सुबह मामले में बड़े स्तर पर बवाल पैदा हो गया। पांवटा साहिब की नवादा पंचायत के ग्रामीणों ने उपायुक्त कार्यालय में हल्ला बोल दिया। अतिरिक्त उपायुक्त से जांच को उच्चाधिकारियों को ट्रांसफर करने की मांग की गई। इसके बाद प्रदर्शनकारी एसपी कार्यालय में भी पहुंचे। यहां अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने प्रदर्शनकारियों से बात की। इसके बाद प्रदर्शनकारी वापस लौट गए। शाम होने से पहले ही ये खबर सामने आ गई कि समूचे मामले की जांच की जिम्मेदारी सीआईडी-क्राइम के डीआईजी को सौंपी गई है।

13 जून की शाम स्टेट सीआईडी -क्राइम के डीआईजी डीके चौधरी जांच के लिए नाहन के सर्किट हाउस पहुंच गए। इसी दौरान 8 जून की मारपीट से जुड़ा 33 सैकंड का वीडियो भी सामने आया। ये वीडियो उसी पक्ष ने उपलब्ध करवाया जो घटना में आईपीसी की धारा 307 को शामिल करने की मांग कर रहा था। घायलों की तस्वीरें भी साझा की गई।

13 जून की शाम नाहन के सर्किट हाउस (Circuit House Nahan) में लापता पुलिस जवान की पत्नी अनीता देवी ने डीआईजी से मुलाकात कर उन्हें एक ज्ञापन भी सौंपा और एसपी के खिलाफ मामला दर्ज करवाने की मांग की। साथ ही यह भी मांग की गई है कि जांच में सिरमौर पुलिस के किसी भी अधिकारी को शामिल न किया जाए।

14 अगस्त को कालाअंब क्षेत्र के रहने वाले जगपाल ने डीसी से मुलाकात की। साथ ही आरोप लगाया कि मुख्य आरक्षी जसवीर सैनी द्वारा जांच में लापरवाही बरती जा रही थी। इसी दौरान समाजसेवी नत्थू राम पत्रकारवार्ता में खुलकर मुख्य आरोपी के पक्ष में उतर गए। समाजसेवी ने पुलिस अधीक्षक को निलंबित करने की मांग उठाई।

14 अगस्त की शाम करीब पौने 8 बजे सूत्रों से ये जानकारी मिली कि मुख्य आरक्षी (Head Constable) को कालाअंब से करीब 15 किलोमीटर दूर हरियाणा के नारायणगढ़ के आसपास सुरक्षित ढूंढ निकाला गया है। इसी दिन सीआईडी-क्राइम (CID-Crime) के डीआईजी (DIG) डाॅ. डीके चैधरी पूरा दिन कालाअंब में डेरा डाले हुए थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments