Monday, July 15, 2024
HomeHimachal Newsपैराग्लाइडिंग ग्राउंड चीफ पर 39 छात्रों के लिए एचपीकेवीएन और टीएचएससी द्वारा...

पैराग्लाइडिंग ग्राउंड चीफ पर 39 छात्रों के लिए एचपीकेवीएन और टीएचएससी द्वारा प्रशिक्षण आयोजित

शिमला 27 सितंबर – हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम (एचपीकेवीएन) और पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्र कौशल परिषद (टीएचएससी) ने मिलकर 39 छात्रों के लिए पैराग्लाइडिंग पर व्यापक दो-दिन के प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन के 24 और 25 सितंबर को हिमाचल प्रदेश के ग्लाइड इन जूंगा में किया गया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन नरेश चौहान, एसीएफ, हिमाचल प्रदेश बिल्डिंग और अन्य निर्माण कामकाज कर्ता कल्याण बोर्ड द्वारा किया गया।

इंस्टीट्यूट ऑफ वोकेशनल स्टडीज के छात्र जो एचपी यूनिवर्सिटी, शिमला में मास्टर ऑफ टूरिज्म एडमिनिस्ट्रेशन की पढ़ाई कर रहे हैं, उन्होंने इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लिया। इस कार्यक्रम का उद्देश्य छात्रों को पैराग्लाइडिंग की कला में मजबूत आधार प्रदान करना था, जिसमें सुरक्षा उपयोग, शिष्टाचार, अतिथि हैंडलिंग और अनुभागों के साथ-साथ प्रभावी संवाद कौशल जैसे महत्वपूर्ण पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करना था। प्रशिक्षण अनुभवी पेशेवरों द्वारा आयोजित किया गया था, जिसमें ग्लाइड इन जूंगा के मुख्य पैराग्लाइडिंग इंस्ट्रक्टर भी शामिल रहे।

प्रशिक्षण कार्यक्रम के मुख्य अंश निम्नलिखित थे:

· मूल पैराग्लाइडिंग तकनीक: छात्रों को पैराग्लाइडिंग के मूल सिद्धांतों का परिचय दिया गया, जिसमें उपकरण का हैंडलिंग, लॉन्च और लैंडिंग प्रक्रियाओं की जानकारी शामिल थी।

· सुरक्षा नियमों: सुरक्षा उपयोग और नियमों पर बल डाला गया, इसके बाद छात्रों को पैराग्लाइडिंग की सुरक्षा की व्यापक समझ प्राप्त हो गई।

· शिष्टाचार और शिष्टता: छात्रों को अतिथियों और साथी पैराग्लाइडर्स के साथ बातचीत करते समय आवश्यक शिष्टाचार और शिष्टता की प्रशिक्षण दी गई, जिससे सकारात्मक और सम्मानजनक वातावरण प्रमोट किया गया।

 

· अतिथि हैंडलिंग और अनुभागों का संवाद: प्रशिक्षण छात्रों के अतिथियों के साथ बातचीत कौशलों को निपुण बनाने पर मन दिया, जिससे वे आगंतुकों के लिए यादगार और आनंददायक अनुभव बना सकें।
· प्रभावी संवाद: प्रभावी संवाद कौशलों की शिक्षा दी गई, क्योंकि पैराग्लाइडिंग प्रतिभागियों की सुरक्षा और संतोष की सुनिश्चित करने में स्पष्ट और संक्षेप संवाद महत्वपूर्ण है।

प्रतिभागियों ने पैराग्लाइडिंग में सीखने और व्यावहारिक अनुभव प्राप्त करने के इस अनूठे अवसर के लिए अपना उत्साह और आभार व्यक्त किया, जिससे निस्संदेह पर्यटन और आतिथ्य उद्योग में उनके करियर को लाभ होगा।

हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम (एचपीकेवीएन) तथा पर्यटन व आतिथ्य क्षेत्र कौशल परिषद (टीएचएससी) की इस पहल के माध्यम से छात्रों को मूल्यवान कौशल प्रदान करने के साथ-साथ हिमाचल प्रदेश में पर्यटन और एडवेंचर स्पोर्ट्स के विकास का समर्थन भी मिलता है। राज्य की दिव्याकरण दृश्य और पैराग्लाइडिंग के लिए आदर्श स्थितियां प्रयास कर्ताओं के लिए विश्व भर से आनंद जनक साहसी यात्रियों के लिए आकर्षक गंतव्य बनाती हैं। एचपीकेवीएन और टीएचएससी कौशल विकास को बढ़ावा देने और पर्यटन क्षेत्र में मूल्यवान प्रशिक्षण अवसर प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। यह सहयोगात्मक प्रयास हिमाचल प्रदेश में युवाओं के कौशल और रोजगार क्षमता को बढ़ाने के लिए उनके समर्पण का एक प्रमाण है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments