Monday, July 15, 2024
HomeHimachal Newsपोषण अभियान के अंतरगर्त, राष्ट्रीय पोषण माह को एक जन आंदोलन...

पोषण अभियान के अंतरगर्त, राष्ट्रीय पोषण माह को एक जन आंदोलन के रूप में मनाते हुए बाल विकास परियोजना

धर्मशाला के सकोह वृत की आंगन वाडी कार्यकर्ताओं द्वारा, वृत पर्येवेक्षक श्री मति पुष्पा की अगुवाई में पढाई भी और पोषण भी तथा Test, Talk Treat Anaemia शीर्षकों पर , शिक्षा, आयुर्वेद, व स्थानीय निकाय के सहयोग से सकोह में एक सफल कार्यक्रम का आयोजन किया जिस में वाल विकास परियोजना अधिकारी धर्मशाला , वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी श्री मति बबिता गौतम, स्थानीय पार्षद श्री अनुज धीमान के साथ साथ करीब 70 महिलाओं व बच्चों ने भाग लिया l कार्यक्रम में आंगन वाडी कार्यकर्ताओं द्वारा न केवल रंगोली के माध्यम से बल्कि पारम्परिक व्यांजनों की प्रदर्शनी लगा कर भी सही पोषण तो देश रोशन शीर्षक को साबित करने की कोशिश की l वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी बबिता गौतम ने Test, Talk Treat anemiea पर बात करते हुए बताया कि गर्भ धारण करने से 3 महीने पहले ही फोलिक एसिड की खुराक लेनी शुरू कर देनी चाहिए और बच्चे के जन्म के वाद भी आयरन व कैल्शियम की खुराक जारी रखनी चाहिए l बच्चे के जन्म से लेकर अगले एक हजार दिन बहुत ही महत्व पूर्ण होते हैं और अगर इस दौरान सभी साबधानियां बरत ली तो आगे कोई भी मुश्किल नहीं आती है l उनके मुताबिक पतरोडू व लिंगडू जैसे पारंपरिक व्यंजनों के नियमित इस्तेमाल से शरीर में खून की कमी को पूरा किया जा सकता है l उपस्थित महिलाओं को सलाह देते हुए उन्होंने कहा की प्रत्येक महिला को, चालीस साल की आयु के उपरांत अपना मेमोग्राफी टेस्ट करवाते रहना चाहिए जिस से हमे समय रहते सत्न केंसर व सरवाईकल केंसर के बारे में मालूम हो जाता है उबले हुए पानी का इस्तेमाल से typhoid और diarrhoea जैसी बीमारियों से बचा जा सकता है l अपने खाने पीने में हमे refined oil व चीनी का इस्तेमाल कम करना चाहिए l चीनी की जगह गुड का प्रयोग करना चाहिए और ज्यादा तली या भूनि चीजें नहीं खानी चाहिए l
कार्यक्रम के अंत में दो महिलाओं की गोद भराई की रस्म भी पूरी की गई l

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments