Friday, July 19, 2024
HomeHimachal Newsलोकतंत्र को धनबल से लूटने नहीं देंगे:- मुख्यमंत्री

लोकतंत्र को धनबल से लूटने नहीं देंगे:- मुख्यमंत्री

 

हिमाचल प्रदेश में आगमी लोकसभा चुनाव अब नजदीक है और जिसको लेकर राजनैतिक हलचल तेज हो गई है। वहीं भाजपा और कांग्रेस भी अपने अपने प्रत्याशियों को जीताने के लिए रणनीति बनाने में लग गए है और इसके लिए संसदीय क्षेत्र वाइज बैठकें भी होती जा रही है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने शिमला संसदीय सीट जीतने के लिए पार्टी के नेताओं में जोश भरा है और प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में शिमला संसदीय सीट की बैठक में मुख्यमंत्री ने मंत्रियों, विधायकों और वरिष्ठ नेताओं के साथ चुनावी रणनीति बनाई है। वहीं शिमला, सोलन और सिरमौर के नेताओं को भी अपने-अपने क्षेत्रों से लीड दिलाने की जिम्मेवारी दी। इस दौरान मुख्य मंत्री ने कहा कि मंडी और शिमला संसदीय क्षेत्र में इस बार पार्टी ने दो नए अनुभवी व ऊर्जावान नेताओं को चुनाव मैदान में उतारा है। और जल्द ही शेष दो संसदीय क्षेत्रों के लिए भी पार्टी अपने चेहरों का एलान कर देगी। उन्होंने बताया कि लोकतंत्र को धनबल से लूटने नहीं देंगे।
उन्होंने कहा कि प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाना उनका प्रमुख लक्ष्य है और इसे वह हासिल करेंगे। विकट आर्थिक परिस्थितियों के बावजूद उनकी सरकार ने कर्मचारियों की ओल्ड पेंशन बहाल कर अपनी पहली गारंटी पूरी की। इसके बाद महिलाओं को 1500 रुपये की प्यारी बहना सम्मान निधि भी जारी कर दी गई है। कहा कि सभी पार्टी नेता और पदाधिकारी कार्यकर्ताओं के साथ पूरे तालमेल से चुनाव मैदान में डट जाएं और प्रदेश सरकार की 15 महीने की उपलब्धियों व जनहित के कार्यों पर वोट मांगे। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने सभी पदाधिकारियों से एकजुट होकर कार्य करने को कहा। उन्होंने कहा कि शिमला संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस बहुत ही मजबूत स्थिति में है और इसी मजबूती के साथ चुनाव मैदान में उतरना है। उन्होंने सभी नेताओं व पदाधिकारियों से भाजपा के किसी भी दुष्प्रचार का मुंहतोड़ जवाब देने का आह्वान करते हुए दावा किया कि प्रदेश की चारों लोकसभा सीटों के साथ छह विधानसभा उपचुनावों में पार्टी जीत हासिल करेगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments